करनाल में DTP 5 लाख रिश्वत लेते पकड़ा:विजिलेंस ने सेक्टर-6 में किराए के मकान में रेड मारी, कॉलोनी काटने की अनुमति के लिए मांगे थे पैसे

हरियाणा के करनाल में शुक्रवार को स्टेट विजिलेंस टीम ने डीटीपी विक्रम को 5 लाख रिश्वत लेते रंगे हाथ पकड़ा है। इसके साथ विजिलेंस ने डीटीपी के ड्राइवर को भी 5000 रुपए की रिश्वत के साथ दबोचा है। दोनों आरोपियों को कोर्ट में पेशकर रिमांड पर लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक,सेक्टर- 6 में डीटीपी विक्रम ने किराए पर मकान लिया हुआ है। उसके पास शहर में हुडा व नगर निगम का चार्ज था। दोनों विभागों की तरफ से अवैध निर्माण पर निगरानी का जिम्मा था। शुक्रवार को विजिलेंस की टीम ने कॉलोनी काटने की अनुमति के लिए पैसे मांगने की शिकायत मिलने के बाद सेक्टर- 6 में डीटीपी के मकान पर रेड मारी। जहां से उसे 5 लाख रिश्वत के साथ पकड़ा। साथ में उसके ड्राइवर को भी गिरफ्तार किया।

लंबे समय से डीटीपी विक्रम चर्चा में आ रहा था। चर्चा थी कि पहले डीटीपी विक्रम अवैध निर्माण को गिराता था। फिर कॉलोनी काटने वालों से मोटी रिश्वत लेता था। विजिलेंस की टीम काफी समय से विक्रम को पकड़ने का प्रयास कर रही थी।

मिठाई लेकर पहुंचा सत नारायण पांचाल।
मिठाई लेकर पहुंचा सत नारायण पांचाल।

सोशल मीडिया पर तेजी से खबर वायरल

डीटीपी के पकड़े जाने की खबर सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई। शहर में डीटीपी के पकड़े जाने की अलग-अलग बात तेजी से फैल गई। विक्रम को ढाई करोड़ रुपए की रिश्वत लेते हुए पकड़े जाने का मैसेज वायरल हुआ, लेकिन यह मैसेज झूठा निकला।

ड्राइवर के माध्यम से रिश्वत की मांग की

विजिलेंस इंस्पेक्टर सचिन ने बताया कि एक शिकायत मिली थी कि डीटीपी विक्रम सिंह ने अपने ड्राइवर के माध्यम से पैसों की मांग की है। वह उनको पैसे देना नहीं चाहता था। कॉलोनी काटने के लिए अनुमति नहीं मिल रही थी। इसके लिए डीटीपी बार-बार चक्कर लगवा रहा था। बाद में ड्राइवर के माध्यम से रिश्वत की मांग की।

उन्होंने कहा कि शिकायत के बाद टीम बनाकर डीटीपी विक्रम सिंह करनाल को 5,00,000 रुपए के साथ रंगे हाथ पकड़ा है। जबकि डीटीपी के ड्राइवर बलबीर को 5000 रुपए की रिश्वत के साथ पकड़ा है। भ्रष्टाचार का केस दर्ज करके विजिलेंस टीम जांच में जुटी है। कोर्ट से पुलिस रिमांड लिया जाएगा।

बढ़ा खेडा के सत नारायण ने बांटे लडडू

बूढ़ा खेड़ा सत नारायण पांचाल ने स्टेट विजिलेंस कार्यालय के बाहर पहुंचकर लडडू बांटे। जो लोग वहां पर मौजूद थे सभी को मिठाई खिलाते हुए कहा कि उसका दो बार गलत तरीके से मकान गिराया था। ऐसे लोगों की बद्दुआएं डीटीपी पर लगी हुई थीं।