सबक सिखाने नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में, सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल और हर्षा K3C मॉल को 7 दिन का नोटिस, टैक्स जमा नहीं कराने पर डिफाल्टरों की होंगी दुकाने सील

सम्पत्ति कर बकायादारों को सबक सिखाने नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में, सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल और हर्षा K3C मॉल को 7 दिन का नोटिस, टैक्स जमा नहीं कराने पर डिफाल्टरों की होंगी दुकाने सील-निगमायुक्त डॉ. मनोज कुमार।

 

9 लाख से ऊपर के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की ओर डेढ करोड बकाया, नगर निगम तैयार कर रहा नोटिस-ईओ देवेन्द्र नरवाल।

 

एक दशक से भी ज्यादा हो चुके प्रॉपर्टी टैक्स बकायादारों को सबक सिखाने के लिए नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में आ गया है। इसे लेकर सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल व हर्षा के3सी मॉल को 7 दिन का नोटिस देकर बकाया टैक्स जमा कराने को कहा गया है। दोनो मॉल में करीब 99 कॉमर्शियल यूनिट हैं, जिनकी ओर वर्ष 2010-11 से करीब 51 लाख रूपये का टैक्स बकाया पड़ा है।

 

नगर निगम आयुक्त डॉॅ. मनोज कुमार के आदेशानुसार, इसकी वसूली के लिए निगम की ओर से हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 128, 129 व 130 के तहत 7 दिनो का नोटिस देकर समस्त प्रॉपर्टी टैक्स चुकाने की मोहलत दी गई है। कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल ने बताया कि यदि इस अवधि में बकाया टैक्स निगम के खजाने में नहीं आया, तो उनकी दुकानो को सील करने की कार्रवाई की जाएगी।

 

ईओ ने आगे बताया कि इसके अलावा निगम ने शहर के 9 लाख से ऊपर बकाया के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की सूची तैयार की हैं, जिनकी ओर करीब डेड करोड रूपये का टैक्स बकाया है। इनके लिए नगर निगम नोटिस तैयार कर रहा है, जो जल्द ही सर्व किए जाएंगे। नोटिस के बावजूद जो बकायादार टैक्स जमा नहीं कराएगा, उनकी प्रॉपर्टी सील की जाएगी।

 

दूसरी ओर नगर निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार का कहना है कि नगर निगम का बकाया प्रॉपर्टी टैक्स करोड़ो में व भारी-भरकम है। इसमें सरकारी विभाग व गैर-सरकारी प्रतिष्ठान भी शामिल हैं। इसके अलावा 1 लाख और इससे ऊपर के भी बड़ी संख्या में प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टर हैं। नगर निगम के प्रयास जारी हैं कि बकायादारों से टैक्स की वसूली की जाए। यदि बकायादारों से प्रॉपर्टी टैक्स निगम के खजाने में जमा होता है, तो यह शहर के विकास और जतना की सुविधाओं पर खर्च होगा।

सम्पत्ति कर बकायादारों को सबक सिखाने नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में, सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल और हर्षा K3C मॉल को 7 दिन का नोटिस, टैक्स जमा नहीं कराने पर डिफाल्टरों की होंगी दुकाने सील-निगमायुक्त डॉ. मनोज कुमार।

9 लाख से ऊपर के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की ओर डेढ करोड बकाया, नगर निगम तैयार कर रहा नोटिस-ईओ देवेन्द्र नरवाल।

एक दशक से भी ज्यादा हो चुके प्रॉपर्टी टैक्स बकायादारों को सबक सिखाने के लिए नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में आ गया है। इसे लेकर सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल व हर्षा के3सी मॉल को 7 दिन का नोटिस देकर बकाया टैक्स जमा कराने को कहा गया है। दोनो मॉल में करीब 99 कॉमर्शियल यूनिट हैं, जिनकी ओर वर्ष 2010-11 से करीब 51 लाख रूपये का टैक्स बकाया पड़ा है।

नगर निगम आयुक्त डॉॅ. मनोज कुमार के आदेशानुसार, इसकी वसूली के लिए निगम की ओर से हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 128, 129 व 130 के तहत 7 दिनो का नोटिस देकर समस्त प्रॉपर्टी टैक्स चुकाने की मोहलत दी गई है। कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल ने बताया कि यदि इस अवधि में बकाया टैक्स निगम के खजाने में नहीं आया, तो उनकी दुकानो को सील करने की कार्रवाई की जाएगी।

ईओ ने आगे बताया कि इसके अलावा निगम ने शहर के 9 लाख से ऊपर बकाया के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की सूची तैयार की हैं, जिनकी ओर करीब डेड करोड रूपये का टैक्स बकाया है। इनके लिए नगर निगम नोटिस तैयार कर रहा है, जो जल्द ही सर्व किए जाएंगे। नोटिस के बावजूद जो बकायादार टैक्स जमा नहीं कराएगा, उनकी प्रॉपर्टी सील की जाएगी।

दूसरी ओर नगर निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार का कहना है कि नगर निगम का बकाया प्रॉपर्टी टैक्स करोड़ो में व भारी-भरकम है। इसमें सरकारी विभाग व गैर-सरकारी प्रतिष्ठान भी शामिल हैं। इसके अलावा 1 लाख और इससे ऊपर के भी बड़ी संख्या में प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टर हैं। नगर निगम के प्रयास जारी हैं कि बकायादारों से टैक्स की वसूली की जाए। यदि बकायादारों से प्रॉपर्टी टैक्स निगम के खजाने में जमा होता है, तो यह शहर के विकास और जतना की सुविधाओं पर खर्च होगा।

सम्पत्ति कर बकायादारों को सबक सिखाने नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में, सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल और हर्षा K3C मॉल को 7 दिन का नोटिस, टैक्स जमा नहीं कराने पर डिफाल्टरों की होंगी दुकाने सील-निगमायुक्त डॉ. मनोज कुमार।

9 लाख से ऊपर के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की ओर डेढ करोड बकाया, नगर निगम तैयार कर रहा नोटिस-ईओ देवेन्द्र नरवाल।

एक दशक से भी ज्यादा हो चुके प्रॉपर्टी टैक्स बकायादारों को सबक सिखाने के लिए नगर निगम एक बार फिर एक्शन मोड में आ गया है। इसे लेकर सेक्टर-12 स्थित सुपर मॉल व हर्षा के3सी मॉल को 7 दिन का नोटिस देकर बकाया टैक्स जमा कराने को कहा गया है। दोनो मॉल में करीब 99 कॉमर्शियल यूनिट हैं, जिनकी ओर वर्ष 2010-11 से करीब 51 लाख रूपये का टैक्स बकाया पड़ा है।

नगर निगम आयुक्त डॉॅ. मनोज कुमार के आदेशानुसार, इसकी वसूली के लिए निगम की ओर से हरियाणा नगर निगम अधिनियम 1994 की धारा 128, 129 व 130 के तहत 7 दिनो का नोटिस देकर समस्त प्रॉपर्टी टैक्स चुकाने की मोहलत दी गई है। कार्यकारी अधिकारी देवेन्द्र नरवाल ने बताया कि यदि इस अवधि में बकाया टैक्स निगम के खजाने में नहीं आया, तो उनकी दुकानो को सील करने की कार्रवाई की जाएगी।

ईओ ने आगे बताया कि इसके अलावा निगम ने शहर के 9 लाख से ऊपर बकाया के 20 प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरों की सूची तैयार की हैं, जिनकी ओर करीब डेड करोड रूपये का टैक्स बकाया है। इनके लिए नगर निगम नोटिस तैयार कर रहा है, जो जल्द ही सर्व किए जाएंगे। नोटिस के बावजूद जो बकायादार टैक्स जमा नहीं कराएगा, उनकी प्रॉपर्टी सील की जाएगी।

दूसरी ओर नगर निगम आयुक्त डॉ. मनोज कुमार का कहना है कि नगर निगम का बकाया प्रॉपर्टी टैक्स करोड़ो में व भारी-भरकम है। इसमें सरकारी विभाग व गैर-सरकारी प्रतिष्ठान भी शामिल हैं। इसके अलावा 1 लाख और इससे ऊपर के भी बड़ी संख्या में प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टर हैं। नगर निगम के प्रयास जारी हैं कि बकायादारों से टैक्स की वसूली की जाए। यदि बकायादारों से प्रॉपर्टी टैक्स निगम के खजाने में जमा होता है, तो यह शहर के विकास और जतना की सुविधाओं पर खर्च होगा।