Karnal-मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व गोरखनाथ मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी

लखनऊ,  NIRMALSANDHU:। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व गोरखनाथ मंदिर को बम से उड़ाने की धमकी आते ही हड़कंप मच गया। लखनऊ में चारबाग रेलवे स्टेशन और बस अड्डे को बम से उड़ाने की धमकी मिलने के बाद यहां सतर्कता बढ़ा दी गयी। लेडी डान नाम से बनी आइडी से हुए ट्वीट में लखनऊ विधानसभा और मेरठ में भी बम धमाके की धमकी दी गई है। ट्वीट के बाद पुलिस ने गोरखनाथ मंदिर की सुरक्षा बढ़ा दी है। एसएसपी के आदेश पर कैंट पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ धमकी देने व आइटी एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया है। लखनऊ कमिश्नरेट के कंट्रोल रूम ने जीआरपी अधिकारियों को बताया कि उनके यहां एक फोन आया था। जिसमें चारबाग स्टेशन को बम से उड़ाने की धमकी दी गयी। लखनऊ कमिश्नरेट कंट्रोल रूम से सूचना मिलते ही जीआरपी और आरपीएफ बल मौके पर पहुंचा। डाग स्क्वायड और बम निरोधक दस्ते ने चारबाग स्टेशन के सभी प्लेटफार्मों और परिसर स्थल की जांच की। ट्रेनों में भी जीआरपी ने जांच की। एसपी रेलवे सौमित्र यादव ने बताया कि सूचना के बाद सतर्कता पहले से बढ़ा दी गई है। सभी संदिग्ध लोगों पर नजर रखी जा रही है। वहीं चारबाग बस अड्डे पर नाका पुलिस और कैसरबाग बस अड्डे पर वजीरगंज पुलिस ने जांच की।शुक्रवार की देर रात को लेडी डान नाम की आइडी से तीन ट्विट किए गए। पहले में उत्तर प्रदेश विधानसभा, रेलवे स्टेशन और बस अड्डा पर बम लगाने की बात लिखी गई थी। इसमें कहा गया था कि योगी आदित्यानाथ की भी हत्या हो जाएगी। एक घंटा बाद योगी आदित्यनाथ को मारने की धमकी दी गई। कुछ देर बाद फिर ट्वीट किया गया और लिखा कि गोरखनाथ मठ में सुलेमान भाई ने बम लगा दिया है। मेरठ में दस जगह बम ब्लास्ट होगा। एसएसपी डा. विपिन ताडा ने बताया कि सूचना के बाद गोरखनाथ मंदिर में चेकिंग कराई गई। कुछ भी आपत्तिजनक नहीं मिला है। पुलिस जांच कर रही है।पहले भी मिल चुकी है धमकी : ऐसा पहली बार नहीं हुआ है कि उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री को जान से मारने की धमकी दी गई हो। पिछले साल मई, सितंबर और दिसंबर में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को जान से मारने की धमकी का फोन डायल-112 पर क‍िया गया है। 29 अप्रैल 2021 को भी यूपी पुलिस कंट्रोल रूम 112 के वॉट्सऐप नंबर पर एक अंजान नंबर से मैसेज आया था। मैसेज में सीएम योगी को पांचवें दिन जान से मार देने की धमकी दी गई थी। मैसेज में धमकी देने वाले ने कहा कि चार दिन के अंदर मेरा जो कुछ कर सकते हो कर लो।